-A A A+

अंतरराष्ट्रीय आवेदक 2019 के लिए पीजीपी प्रवेश नीति

title-arrow

अंतरराष्ट्रीय आवेदक 2019 के लिए पीजीपी प्रवेश नीति

पृष्ठभूमि

आईआईएम उदयपुर के द्विवर्षीय , पूर्णकालिक, आवासीय पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम (पीजीपी) को व्यवसाय प्रशासन में स्नातकोत्तर (एमबीए) के रूप में मान्यता प्राप्त है | पीजीपी के दो वर्ष छह तिमाही में बटे होते है| इन्हीं दो वर्षों के बीच गर्मियों में दो महीने की एक इंटर्नशिप होती है।

आईआईएम द्वारा प्रदान किये गए पीजीपी डिप्लोमा की योग्यता के रूप में अत्यधिक मांग है एवं इसे भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी अच्छी तरह से मान्यता प्राप्त है। पीजीपी की योग्यता वाले आईआईएम के कुछ विशिष्ट छात्रों में रघुराम राजन (पूर्व रिजर्व बैंक के गवर्नर), पीयूष गुप्ता (डेवलपमेंट बैंक ऑफ सिंगापुर 'डीबीएस' के सीईओ), इंद्रा नूयी (पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी पेप्सी) शामिल हैं।

विदेशी उम्मीदवार की परिभाषा

आईआईएमयू में, एक उम्मीदवार की अंतर्राष्ट्रीय प्रतिष्ठा उसके निवास स्थान के आधार पर निर्धारित की जाती है ना की उसकी राष्ट्रीयता पर। एक अंतर्राष्ट्रीय आवेदक कोई भी भारतीय अथवा विदेशी पासपोर्ट धारक है:

  • जो पूर्ववर्ती तीन वर्षों (1 जनवरी 2016 से 31 दिसंबर 2018) में कम से कम 18 महीनों के लिए वैध पासपोर्ट या यात्रा दस्तावेजों के साथ भारत के बाहर काम कर रहा है या पढ़ रहा है या रह रहा है।
  • जो आईआईएम में प्रवेश के लिए घरेलू प्रवेश परीक्षा देने की स्थिति में नहीं है जैसे भारतीय प्रबंधन संस्थानों द्वारा आयोजित कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट)
  • किसी भी संदेह से बचाव हेतु, कोई भी उम्मीदवार चाहे भारतीय या विदेशी पासपोर्ट धारण करने वाला, जो कैट 2019 के लिए परीक्षण तिथि के दिन भारत में है, वह अंतरराष्ट्रीय आवेदक वर्ग के तहत आवेदन करने के लिए पात्र नहीं होगा। कैट 2019 का आयोजन 24 नवंबर, 2019 को होने वाला है।
पात्रता

उम्मीदवार के पास कम से कम 50% अंक या समकक्ष क्यूम्यलटिव ग्रेड पॉइंट एवरेज (सीजीपीए) जिसे कुछ मामलों में ग्रेड प्वाइंट एवरेज (जीपीए) भी कहा जाता है, के साथ स्नातक की डिग्री या समकक्ष योग्यता (कम से कम तीन साल का कार्यक्रम) होनी चाहिए, जो किसी विश्वविद्यालय / कॉलेज / उच्चतर शिक्षण संस्थान / भारत या विदेशों में तृतीयक संस्थान द्वारा प्रदान की गयी हो। विदेशी डिग्री रखने वाले उम्मीदवारों के लिए, विदेशी डिग्री की समकक्षता को भारतीय संस्थाओं के एसोसिएशन द्वारा प्रमाणित होने की आवश्यकता है।

स्नातक की डिग्री में उम्मीदवार द्वारा प्राप्त अंकों के प्रतिशत की गणना, जिस यूनिवर्सिटी / संस्था से उम्मीदवार ने डिग्री प्राप्त की थी, उनकी पद्धति या चलन के आधार पर की जाएगी। यदि यूनिवर्सिटी / संस्था में सीजीपीए को समकक्ष अंक में परिवर्तित करने की कोई योजना नहीं है, तो समकक्षता उम्मीदवार के सीजीपीए को अधिकतम संभावित सीजीपीए से भाग देकर एवं परिणाम को 100 से गुणा करके निर्धारित की जाएगी।

स्नातक की डिग्री/समकक्ष योग्यता परीक्षाओं के अंतिम वर्ष में भाग लेने वाले उम्मीदवार व जिन लोगों ने डिग्री आवश्यकताओं को पूरा किया है एवं परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं वे भी आवेदन कर सकते हैं। यदि चयनित होते हैं, तो ऐसे उम्मीदवारों को कार्यक्रम में अस्थायी प्रवेश की अनुमति दी जाएगी, लेकिन केवल तभी यदि वह प्रवेश लेते समय अपने विश्वविद्यालय/ कॉलेज / संस्थान के प्राचार्य / रजिस्ट्रार से एक प्रमाणपत्र जमा करे, यह बताते हुए कि प्रमाण पत्र जारी करने की तिथि पर स्नातक की डिग्री/समकक्ष योग्यता प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार ने सभी आवश्यकताओं को पूरा कर लिया है। मार्क-शीट एवं सर्टिफिकेट जमा करने की समय सीमा 31 दिसंबर, 2019 है। इस शर्त के पूरा न होने पर स्वतः अस्थायी प्रवेश रद्द हो जाएगा।

  • उम्मीदवार के पास एक वैध जीमैट स्कोर होना चाहिए (15 अप्रैल 2019 को 5 वर्ष से अधिक पुराना नहीं)।
  • IELTS/TOEFL स्कोर, यदि अंडरग्रेजुएट शिक्षा के दौरान शिक्षा की भाषा अंग्रेजी नहीं थी।

अंतर्राष्ट्रीय आवेदकों को नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन करने की आवश्यकता है:

अभी अप्लाई करें

आवेदन के लिए निम्नलिखित दस्तावेज आवश्यक हैं:

  • जीमैट/जीआरई स्कोर प्रमाण पत्र की एक प्रति
  • यदि उपलब्ध हो तो IELTS/TOEFL स्कोर की एक प्रति
  • पीजीपी का अध्ययन करने के लिए उद्देश्य का विवरण (एसओपी)
  • दो संदर्भ पत्र या तो काम पर पर्यवेक्षकों से या प्रोफेसरों से, जिन्होंने आपको सिखाया है
  • निम्न सहित सभी शैक्षणिक मार्क-शीट्स/प्रमाण पत्रों की कॉपी
    • कक्षा दसवीं / 'ओ' स्तर
    • कक्षा बारहवीं / 'ए' स्तर / आईबी डिप्लोमा / एसएटी स्कोर
    • विश्वविद्यालय / कॉलेज / संस्थान में उच्च शिक्षा
  • कार्य अनुभव प्रमाणपत्रों की कॉपी (कार्य अनुभव वाले उम्मीदवारों के लिए)
  • पासपोर्ट की फ़ोटो प्रति
समयसीमा

विदेशी उम्मीदवारों के लिए पीजीपी कार्यक्रम के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख 15 अप्रैल , 2019, 5.0 बजे (आईअसटी) तक है।

लघुसूचीयन एवं साक्षात्कार
  • आवेदकों को व्यक्तिगत साक्षात्कार (पीआई) के लिए उम्मीदवार के जीमैट स्कोर/ जीआरई , एसओपी एवं संदर्भ पत्रों के आधार पर चुना जाएगा। चयन प्रवेश समिति द्वारा किया जाएगा एवं पीआई के लिए चयनित आवेदकों को इसकी सूचना भेजी जाएगी।
  • चुने गए उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए उपस्थित होना होगा। साक्षात्कार टेलीफ़ोनिक रूप से या स्काइप जैसे वर्चुअल मीडिया के माध्यम से मार्च और अप्रैल 2019 के दौरान आयोजित किया जाएगा। कम से कम एक हफ्ते पहले साक्षात्कार के बारे में उम्मीदवारों को सूचना भेजी जाएगी।
  • उम्मीदवारों का अंतिम चयन जीमैट/ जीआरई स्कोर, व्यक्तिगत साक्षात्कार में प्रदर्शन, शैक्षिक प्रोफाइल, प्रासंगिकता और काम के अनुभव की गुणवत्ता एवं पीजीपी में प्रवेश के लिए समग्र योग्यता जैसे कई मानदंडों पर आधारित होगा। अंतिम प्रस्ताव अप्रैल 2019 के दौरान किए जाएंगे। उम्मीदवारों को, जिन्हें प्रवेश प्रस्ताव दिया जा रहा है सभी औपचारिकताओं को पूरा करके अपनी स्वीकृति की पुष्टि करनी होगी। कुछ उम्मीदवारों को शुरू में प्रतीक्षा सूची में भी रखा जा सकता है। प्रतीक्षा सूची में आनेवाले उम्मीदवारों को प्रस्ताव आईआईएमयू द्वारा दिए गये प्रस्ताव को स्वीकार करने वाले सफल उम्मीदवारों की संख्या पर निर्भर करेगा।
शुल्क एवं व्यय
  • कोई आवेदन शुल्क नहीं है।
  • दो साल की अवधि के लिए पीजीपी 2019-21 के लिए ट्यूशन शुल्क 1,500,000 है।
  • अन्य शुल्क जैसे हॉस्टल शुल्क INR 76500, एलुमनी एसोसिएशन शुल्क INR 3000, छात्र गतिविधियाँ शुल्क INR 6000, मेस शुल्क INR 92880*, सावधानी जमा INR 25000।

* वास्तविक के अनुसार शुल्क लिया जाएगा।

अभी अप्लाई करें