-A A A+

संकाय

title-arrow

संकाय

संकाय

ग्रीष्‍म स्कूल संकाय विकास प्रबंधन, अर्थव्‍यवस्‍था, वित्‍त, संगठनात्‍मक व्‍यवहार, राजनीतिक विज्ञान, सार्वजनिक नीति, सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य तथा कार्यनीति को शामिल करते हुए क्षेत्रों में व्‍यापक अनुभव प्रदान करेंगे।

कार्यक्रम समन्‍वयक
संकाय
अनिरूद्ध कृष्‍णा

अनिरूद्ध कृष्‍णा ड्यूक यूनिवर्सिटी में सार्वजनिक नीति और राजनीति विज्ञान के प्रोफेसर हैं। उनकी शोध इस तथ्‍य का अन्‍वेषण करती है कि विकासशील राष्‍ट्रों में गरीब समुदाय और व्‍यक्‍ति ढांचागत एवं व्‍यक्‍तिगत बाधाओं का सामना कैसे करते हैं जिनसे गरीबी और अधिकारहीनता का परिणाम होता है। शिक्षा जगत में आने से पहले कृष्‍णा ने 14 वर्ष तक भारतीय प्रशासनिक सेवा में कार्य किया जहां इन्‍होंने ग्रामीण एवं शहरी विकास से संबंधित पहलों का प्रबंधन किया। उन्‍होंने कोरनेल यूनिवर्सिटी- (2000) से सरकार में पीएचडी और दिल्‍ली स्‍कूल ऑफ इकोनिमिक्‍स से इकोनिमिक्‍स में मास्‍टर डिग्री प्राप्‍त की।

संकाय
सुरजित कार्तिकेयन

सुरजित कार्तिकेयन आईआईएम उदयपुर में संगठनात्‍मक व्‍यवहार और मानव संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में संकाय सदस्‍य हैं। उनकी शोध रूचि में संगठन, उद्योग विकास तथा आर्थिक समाजशास्‍त्र शामिल हैं। उन्‍होंने स्‍विटजरलैंड में यूनिवर्सिटी ऑफ लुगानों से पीएचडी की है और आईआईएमयू में कार्यग्रहण से पहले वे स्‍वीडन में उपशाला यूनिवर्सिटी में व्‍यापार अध्‍ययन विभाग में पोस्‍ट डाक्‍टोरल फैलो थे।

संकाय
एमएस श्रीराम

एमएस श्रीराम आईआईएम बंगलौर के विजिटिंग संकाय हैं। वे बैंकिंग प्रौद्योगिकी शोध एवं विकास संस्‍थान के प्रबुद्ध फैलो तथा आईआईएम उदयपुर के विजिटिंग प्रोफसेर हैं। हाल ही में वे आरबीआई की उस बाह्य सलाहकारी समिति के सदस्‍य थे जिसने लघु वित्‍तीय बैंकों को लाइसेंस की सिफारिश की थी। वे एनडीडीबी डेयरी सर्विस तथा नाबार्ड वित्‍तीय सेवा बोर्ड में शामिल थे और प्रथम बुक्‍स एंड दस्‍तकर आंध्रा के ट्रस्‍टी थे।

भागीदार संकाय
संकाय
कोरिने क्रुप

कोरिने क्रुप सार्वजनिक नीति पद्धति के एसोसिएट प्राफेसर और स्‍नातक अध्‍ययन निदेशक, अंतर्राष्‍ट्रीय विकास नीति स्‍नातकोत्‍तर कार्यक्रम (एमआईडीपी) अंतर्राष्‍ट्रीय विकास केंद्र ड्यूक केंद्र के एसोसिएट प्रोफेसर हैं। कोरिने क्रुप ने इकनोमिक्‍स में अपनी बी.ए डिग्री इंडानिया यूनिवर्सिटी (1984) से प्राप्‍त की और इकनोमिक्‍स में एम.ए तथा पीएचडी डिग्री यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिल्वेनिया (1986, 1990) से प्राप्‍त की। उनके प्राथमिक क्षेत्र अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापर और वित्‍त इकोनोमेट्रिक्‍स औरसाख्‍यिंकी हैं।

संकाय
इरिक विबेल्‍स

इरिक विबेल्‍स राजनीतिक विज्ञान, ड्यूक यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हैं। उनकी शिक्षा और शोध विकास, विक्रेंद्रीकृत अभिशासन तथा राजनीतिक अर्थव्‍यवस्‍था के अन्‍य क्षेत्रों पर केंद्रित हैं। उनहोंने अपनी स्‍नातकोत्‍तर और पीएचडी डिग्री यूनिवर्सिटी ऑफ न्‍यू मैक्‍सिकों से प्राप्‍त की और वे तुलनात्‍मक राजनीतिक श्रृंखला में कैम्‍ब्रिज अध्‍ययन के सह-सामान्‍य सम्‍पादक हैं।

संकाय
एच.के. दीवान

हृदय कांत दीवान अजीम प्रेम जी विश्‍वविद्यलाय का संबद्ध प्रोफसेर हैं। और विद्याभवन सोसायटी के शैक्षिक सलाहकार हैं। वे राष्‍ट्रीय और राज्‍य स्‍तर (छत्‍तीसगढ, आंध्र प्रदेश, बिहार, राजस्‍थान और हरियाणा) में सेवा-पूर्व और सेवाकालीन अध्‍यापकों की क्षमता निर्माण के लिए पाठ्यचर्या और सामग्री के विकास में शामिल हैं। उन्‍होंने दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय में भौतिकी में अपनी पीएचडी प्राप्‍त की है।

संकाय
जनत शाह

प्रोफेसर जनत शाह भारतीय प्रबंधन संस्‍थान उदयपुर के निदेशक हैं। उनकी शोध रूचि में आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, विनिर्माण प्रणाली का डिजाईन और परियोजना प्रबंधन शामिल हैं। वे आईआईटी मुम्‍बई के पूर्व छात्र तथा आईआईएम अहमदाबाद के फैलो हैं।

संकाय
मार्क ज्यूलैंड

मार्क ज्‍युलैंड सेनफोर्ड स्‍कूल ऑफ पब्‍लिक पॉलिसी तथा ड्यूक ग्‍लोबल हेल्‍थ इंस्‍टीट्यट में संयुक्‍त्‍ रूप से नियुक्‍त सहायक प्रोफेसर हैं। उनकी शोध रूचि में गैर-बाजर मूल्‍यांकन, जल एवं स्‍वच्‍छता, पर्यावरण स्‍वास्‍थय, ट्रांस बाउंड्री, जल संसाधनों की आयोजना और प्रबंधन तथा मौसम परिवर्तन के प्रभाव अथवा अर्थव्‍यवस्‍था शामिल हैं। उन्‍होंने अपनी स्‍नातकोत्‍तर एवं पीएचडी डिग्री नॉर्थ कैरोलिना-चैपल हिल से प्राप्‍त की है।

संकाय
राजीव खंडेलवाल

राजीव खंडेलवाल आजिविका ब्‍यूरो भारत में अकुशल, वंचित घुमुन्‍तु श्रमिकों की बड़ी संख्‍या को सेवा एवं हल प्रदान करने के लिए समर्पित एक प्रमुख पहल के संस्‍थापक और निदेशक हैं। राजीव आईआरएमए, आनंद से स्‍नातक हैं और 22 वर्षों से वे विकास व्‍यावसायी रहें हैं। उनहें आजीविका, श्रम और अप्रवास के विषयों पर गहन रूप से लिखा और पढ़ाया है।.

संकाय
संध्‍या भाटिया

संध्‍या भाटिया आईआईएम उदयपुर में वित्‍त एवं लेखन के क्षेत्र में संकाय सदस्‍य हैं। उनकी शोध रूचि में वित्‍त लेखन, प्रबंधन, कार्यकारी पूंजी प्रबंधन, व्‍यापर पुन:संरचना और वित्‍तीय सेवा प्रबंधन शामिल हैं। वह अर्हता प्राप्‍त सनदी लेखाकार हैं और उन्‍होंने अपनी पीएचडी मोहनलाल सुखाड़िया विश्‍वविद्यालय, उदयपुर से प्राप्‍त की हैं।

संकाय
शरद आयंग्‍र

शरद आयंग्‍र पेडियाट्रिक्स और जन स्‍वास्‍थ्‍य में प्रशिक्षित एम.डी हैं। उन्‍होंने कई वर्षों तक भारत और विदेशों में गर्भनिरोधक, मातृत्‍व स्‍वास्‍थ्‍य और नवजात स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल जैसे मुद्दों पर तकनीकी सहायता प्राप्‍त करने के लिए भारत और विदेशों में संयुक्‍त राष्‍ट्र के साथ कार्य किया है। वे एक्‍शन रिसर्च एंड ट्रेनिंग फॉर हेल्‍थ (एआरटीएच) (www.arth.in), राजस्‍थान में रोकथाम और उपचारी जन स्‍वास्‍थ्‍य कार्य करने वाला एक गैर-सरकारी संगठन के सह-संस्‍थापक हैं। शरद विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन और भारतीय चिकित्‍सा शोध परिषद् की समितियों में कार्य करते हैं और वे सेनफोर्ड स्‍कूल ऑफ पब्‍लिक पॉलिसी यूएसए में संबद्ध प्रोफेसर हैं जिसके अंतर्गत वे वैश्‍विक स्‍वास्‍थ्‍य विषय को पढ़ाते हैं।

संकाय
श्रीनिवास टाटाचारी

श्रीनिवास टाटाचारी आईआईएम उदयपुर में संगठनात्‍मक व्‍यवहार और मानव संसाधन प्रंबधन के क्षेत्र में संकाय सदस्‍य हैं। उनकी शोध रूचि में संगठनों में सामाजिक पहचान, समूह डायानामिक्‍स, संगठनात्‍मक अधिगम और ज्ञान प्रबंधन तथा सामाजिक पूंजी शामिल हैं। वे आईआईएम बंग्‍लौर के पूर्व छात्र हैं तथा आईआईएम बंग्‍लौर के फैलो भी हैं।

संकाय
थॉमस जोसफ

थॉमस जोसफ आईआईएम उदयपुर में व्‍यापार नीति एवं नीतिगत क्षेत्र में संकाय सदस्‍य हैं। उनकी शोध रूचि में नीति एवं अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यापार: नीति संबद्ध: प्रतिस्‍पर्धा और बाजार ढांचा तथा फर्मों का संचालन शामिल हैं। वे आईआईएम बंग्‍लौर के फैलो हैं।